पोप फ्रांसिस ने महिलाओं के अपमान को बताया भगवान का अपमान

पोप फ्रांसिस का नए साल पर संबोधन

पोप फ्रांसिस ने महिलाओं के अपमान को बताया भगवान का अपमान

पोप फ्रांसिस ने नए साल के संबोधन में 'महिलाओं का अपमान ईश्वर का अपमान' बताया है। पोप ने लोगों से दुनिया में शांति स्थापित करने का भी आह्वान किया। वैटिकन में दिए अपने संबोधन में पोप ने कहा- हमें शांति की जरूरत है। चलो शांति के बारे में सोचते हुए घर चलते हैं। शांति स्थापित करने के लिए दूसरों को क्षमा करना और न्याय को बढ़ावा देना होगा। पोप ने आगे कहा- मां जीवन देती हैं और महिलाएं दुनिया को एक रखती हैं, इसलिए महिलाओं की रक्षा करने के लिए और अधिक कोशिश करनी चाहिए। अगर आप किसी महिला को एक भी चोट पहुंचाते हैं तो भगवान का अपमान करते हैं।