नए साल में अब तक 13 आतंकी ढेर: आठ घंटे की मुठभेड़ में सुरक्षाबलों ने दो और को किया खत्म

मारे गए आतंकवादी किस संगठन के इसका अब तक खुलासा नहीं हो पाया है। अभी तलाश जारी है। पुलिस के अनुसार, रविवार को सुरक्षाबलों को हसनपोरा गांव में आतंकियों की मौजूदगी की सूचना मिली थी।

नए साल में अब तक 13 आतंकी ढेर: आठ घंटे की मुठभेड़ में सुरक्षाबलों ने दो और को किया खत्म

श्रीनगर। दक्षिण कश्मीर (South Kashmir) के कुलगाम जिले के हसनपोरा (Hasanpora of Kulgam district) में सुरक्षाबलों (security forces) ने रविवार आठ घंटे से अधिक चली मुठभेड़ (Encounter) में आधी रात बाद दो आतंकियों को मार (kill two terrorists) गिराया। कश्मीर पुलिस (Kashmir Police) के मुताबिक सुरक्षाबलों से मुठभेड़ में जो आतंकवादी ढेर हुए हैं उनके पास से भारी मात्रा में हथियार और गोला बारूद बरामद हुए हैं। इसके साथ ही आपत्तिजनक सामग्रियां (objectionable materials) भी बरामद हुई है। बता दें कि नए साल में सुरक्षाबों ने अब तक एक दर्जन से अधिक आतंकवादियों को मार गिराया है, जिसमें ज्यादातर जैश-ए-मोहम्मद (Jaish-e-Mohammed) और लश्कर-ए-तैयबा (Lashkar-e-Taiba) के आतंकवादी शाामिल हैं।

आज मारे गए आतंकवादी किस संगठन के इसका अब तक खुलासा नहीं हो पाया है। अभी तलाश जारी है। पुलिस के अनुसार, रविवार को सुरक्षाबलों को हसनपोरा गांव में आतंकियों की मौजूदगी की सूचना मिली थी। इसके बाद सुरक्षाबलों ने शाम को संयुक्त रूप से इलाके की घेराबंदी कर तलाशी अभियान चलाया। इसी दौरान छिपे दहशतगर्दों ने फायरिंग शुरू कर दी। सुरक्षाबलों ने भी जवाबी कार्रवाई की।

मौसम खराब होने और अंधेरा होने के कारण गांव से आने-जाने के सभी रास्ते सील कर दिए गए। इस बीच रात लगभग एक बजे सुरक्षाबलों की घेराबंदी तोड़कर भागने के प्रयास में दो आतंकी मारे गए। आबादी वाला इलाका होने के कारण सुरक्षाबल एहतियात बरत रहे हैं। आशंका है कि घटनास्थल पर कुछ और आतंकी मौजूद हो सकते हैं। सुरक्षाबल सुबह होने का इंतजार कर रहे हैं।

इससे पहले 5 जनवरी को भी सुरक्षाबलों और आतंकियों के बीच मुठभेड़ हुई थी जिसमें 3 आतंकवादी मारे गए थे। मुठभेड़ के बाद आतंकवादियों के पास से AK सीरीज राइफल समेत अन्य हथियार और गोला-बारूद बरामद हुआ था। बीते बुधवार की सुबह सुरक्षाबलों को चांदगाम इलाके के एक घर में आतंकियों के छिपे होने की जानकारी मिली थी, जिसके बाद आॅपरेशन शुरू किया गया था।

वहीं चार जनवरी को कुलगाम के ओके इलाके में सुरक्षा बलों ने लश्कर-ए-ताइबा के छद्म संगठन द रेजिस्टेंस फ्रंट (टीआरएफ) के दो स्थानीय आतंकियों को मार गिराया था। इनके पास से एक एके राइफल व पिस्टल बरामद की गई थी। इसके अलावा पांच जनवरी को पुलवामा में जैश के तीन आतंकी मारे गए थे। बता दें कि इस इस साल की शुरूआत से विशेष तौर पर दक्षिण कश्मीर में सुरक्षाबलों को आतंकियों के खिलाफ अभियान में बड़ी सफलता मिल रही है। इस साल अब तक मारे गए 13 आतंकियों में सात इसी इलाके में मारे गए हैं।

मजबूत इनपुट से आतंकियों को झटका
 आतंकियों के खिलाफ सुरक्षाबलों को मिल रही इस सफलता का कारण लोगों के बीच से आ रहीं खुफियां सूचनाएं हैं। पुष्ट सूचनाओं के कारण सुरक्षाबलों को जबरदस्त सफलता मिली है। हाल ही में आईजी कश्मीर विजय कुमार ने स्वीकार किया था कि मजबूत इनपुट के कारण आतंकियों को काफी नुकसान हुआ है। हमारे पास आने वाली सूचनाओं में 80 फीसदी मानवीय सूचनाएं हैं।